हिन्दी साहित्य

आदिकाल

आदिकाल सन 1000 से 1325 तक हिंदी साहित्य के इस युग को आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने वीर-गाथा काल नाम दिया है। इसका चारण-काल, सिद्ध-सामंत काल और अन्य नाम से भी उल्लेख किया जाता है। इस समय का साहित्य मुख्यतः इन रूपों में मिलता है : सिध्द-साहित्य, नाथ-साहित्य, जैन साहित्य, चारणी-साहित्य, प्रकीर्णक साहित्य।

आदिकाल

 

आदिकाल : परिचय

आदिकाल की विशेषताएं

आदिकाल के नामकरण की समस्या

आदिकाल की उपलब्धियाँ

सिद्ध साहित्य

नाथ साहित्य

रासो काव्य : वीरगाथायें

 

जैन साहित्य की रास परक रचनायें

अमीर खुसरो

विद्यापति

चंदबरदाई

जगनिक का आल्हाखण्ड

दामोदर पंडित – उक्ति व्यक्ति प्रकरण

ढोला मारू रा दूहा

 

आदिकाल के लेखो की मूलसूची पर जाएँ

 

29 Responses to "आदिकाल"

सराहनीय प्रयास अच्छा लगा आपको पढना ..काफी अच्छी अच्छी रचनाएं हैं आपकी.जल्दी ही फिर आना होगा .

Hindi Kavita

it would be good if u could put some notes on prenchand ki bhasha

it would be good if u could put some notes on premchand ki bhasha.
overall notes are very up to date

इस जानकारी मुझे बहुत जरूरत थी। आपने इसे जाल पर प्रदान किया, इसके लिए बहुत धन्‍यवाद। हिंदी में आप टंकण किए, यह भी प्रशंसा का विषय है।

इस जानकारी की मुझे बहुत जरूरत थी। आपने इसे जाल पर प्रदान किया, इसके लिए बहुत धन्‍यवाद। हिंदी में आप टंकण किए, यह भी प्रशंसा का विषय है।

this is gud effort to provide information about our rich hindi litrature…

Drghanshyamthkaur (Hindi)

हिन्दी भाषा एवं साहित्य के बारे में वेब पर इतनी सारी जानकारी हिन्दी में उपलब्ध हो रही है, यह अत्यंत हर्ष का विषय है। हिन्दी का भविष्य उज्ज्वल है।

हिन्दी भाषा एवं साहित्य के बारे में वेब पर इतनी सारी जानकारी हिन्दी में उपलब्ध हो रही है, यह अत्यंत हर्ष का विषय है। हिन्दी का भविष्य उज्ज्वल है।

It is very useful for hindi related job . Thank you very much. God help you every moment.

It is very useful for hindi compition test.thank you.God help you every moment.

nath sampdray ki kai pustko dka prakasha oh chuka he unki such or przpti ka sadhan bataye. pl.

its too good for everyone, specially for the student those studding in hindi littérateur. do not have too much time for their studies.

special thanks for
this website

THANKS , it’s very helpfulll
how can i type in hindi

it would be best if u have the poets also……….

Wikipidia Hindi ke sakriya sadhasyon ke ki sankhya dhekhkar hairani va dukh huwa , ummid hi ye sankhaya teji se badegi. Aap logon ke mehnat ko mera salam.

Narendra Sahu
Chhatishgarh(India)

chvlo abdur rehman kithe aaaa

hey its tooooo useful for projects!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!
😦

एक अच्छा प्रयास है|हम सबके लिए और ज्यादा अच्छा किया जाना चाहिए| इस पटल पर केवल प्रमाणीकृत पक्तियों को स्थान दिया जाना चाहिए|

It is very good to have such information in this website i like it very much please include more information which related to this subject it is verymuch good thank you

ese padhkar muje net me help mila i m net qualify so happy . aap aise he knowlege dete raho .thanks

ese padhkar muje net me help mila i m net qualify so happy . aap aise he knowlege dete raho .thanks.muje jrf ke liye kuch naye jankariya jo ho .

hindi matry bhash yani ma ma ma hai.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

प्रत्याख्यान

यह एक अव्यवसायिक वेबपत्र है जिसका उद्देश्य केवल सिविल सेवा तथा राज्य लोकसेवा की परीक्षाओं मे हिन्दी साहित्य का विकल्प लेने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है। यदि इस वेबपत्र में प्रकाशित किसी भी सामग्री से आपत्ति हो तो इस ई-मेल पते पर सम्पर्क करें-

mitwa1980@gmail.com

आपत्तिजनक सामग्री को वेबपत्र से हटा दिया जायेगा। इस वेबपत्र की किसी भी सामग्री का प्रयोग केवल अव्यवसायिक रूप से किया जा सकता है।

संपादक- मिथिलेश वामनकर

वेबपत्र को देख चुके है

  • 1,906,738 लोग

कैलेण्डर

दिसम्बर 2016
रवि सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि
« अगस्त    
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031

वेब पत्र का उद्देश्य-

मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ, बिहार, झारखण्ड तथा उत्तरांचल की पी.एस.सी परीक्षा तथा संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा के हिन्दी सहित्य के परीक्षार्थियो के लिये सहायक सामग्री उपलब्ध कराना।

यह वेब पत्र सिविल सेवा परीक्षा मे हिन्दी साहित्य विषय लेने वाले परीक्षार्थियो की सहायता का एक प्रयास है। इस वेब पत्र का उद्देश्य किसी भी प्रकार का व्यवसायिक लाभ कमाना नही है। इसमे विभिन्न लेखो का संकलन किया गया है। आप हिन्दी साहित्य से संबंधित उपयोगी सामगी या आलेख यूनिकोड लिपि या कॄतिदेव लिपि में भेज सकते है। हमारा पता है-

mitwa1980@gmail.com

- संपादक

भारत के सर्वश्रेष्ट ब्लॊग

%d bloggers like this: