हिन्दी साहित्य

हिन्दी-भाषा-लिपि

हिन्दी, भाषाई विविधता का एक ऐसा स्वरूप जिसने वर्तमान में अपनी व्यापकता में कितनी ही बोलियों और भाषाओं को सँजोया है। जिस तरह हमारी सभ्यता ने हजारों सावन और हजारों पतझड़ देखें हैं, ठीक उसी तरह हिन्दी भी उस शिशु के समान है, जिसने अपनी माता के गर्भ में ही हर तरह के मौसम देखने शुरू कर दिए थे। हिन्दी की यह माता थी संस्कृत भाषा, जिसके अति क्लिष्ट स्परूप और अरबी, फारसी जैसी विदेशी और पाली, प्राकृत जैसी देशी भाषाओं के मिश्रण ने हिन्दी को अस्तित्व प्रदान किया। जिस शिशु को इतनी सारी भाषाएँ अपने प्रेम से सींचे उसके गठन की मजबूती का अंदाज लगाना बहुत मुश्किल है।

हिन्दी भाषा तथा देवनागरी लिपि

 

·     हिन्दी का जन्म

·     हिन्दी का नामकरण

·     हिन्दी भाषा की उत्पत्ति और विकास

·     हिन्दी की पूर्ववर्ती भाषाएँ

·     अपभ्रंश का परिचय

·     अपभ्रंश:भाषा-प्रवाह तथा विशेषतायें

·     खड़ीबोली का विकास

·     राष्ट्रभाषा हिन्दी

·     हिन्दी का भाषा वैभव तथा महत्व

·     मानक भाषा

·     हिन्दी मे वर्तनी

 

 

·     देवनागरी लिपि का संक्षिप्त परिचय

·     ब्रज का अर्थ

·     ब्रज भाषा का क्षेत्र

·     लोक भाषा : ब्रजभाषा

·     ब्रजभाषा शैली खंड

·     अवधी

·     अवधी की विशेषता

·     मालवी बोली

·     बुन्देली बोली

·     बघेली बोली

·     निमाड़ी बोली

 

 

 

13 Responses to "हिन्दी-भाषा-लिपि"

sir,

thanks for all hindi sahitya knowledge.

required me in detail of aadunik kal,

regards

jugal kishor

Mujhe Hindi Sahitya ki Kavya Shastra ki Jankari chahiya

jan kar ati prashannta hui ki Hindi Sahitya ke bare mai Internate par jankari uplabdha hai.
Thank you ……

Phat blogpost, good looking weblog, added it to my favorites!

hindi hmari rastra bhasa hai jise jana har ek bhartiy k liy garw ki baat h.

plz give information about kavya shastra ke nav ras

pis give me information about adhuneak yug me hindi ka mahatv

Very nice. Sir..creat app

hindi shabdashakti ki jankari with example chahiye

bhartendu yug 1850-1900
dvivedi yug 1901-1920
shayavad 1921-1936
pragativad 1937-1942
prayogvad 1943-1952
nai kaveeta 1953-1960
sathottari kaveeta 1961-1970

handi hamare jan Man ki bhasha hai.hindi hindu hindusthan..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

प्रत्याख्यान

यह एक अव्यवसायिक वेबपत्र है जिसका उद्देश्य केवल सिविल सेवा तथा राज्य लोकसेवा की परीक्षाओं मे हिन्दी साहित्य का विकल्प लेने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है। यदि इस वेबपत्र में प्रकाशित किसी भी सामग्री से आपत्ति हो तो इस ई-मेल पते पर सम्पर्क करें-

mitwa1980@gmail.com

आपत्तिजनक सामग्री को वेबपत्र से हटा दिया जायेगा। इस वेबपत्र की किसी भी सामग्री का प्रयोग केवल अव्यवसायिक रूप से किया जा सकता है।

संपादक- मिथिलेश वामनकर

वेबपत्र को देख चुके है

  • 658,673 लोग

आपकी राय

Anil Ahirwar on जगनिक का आल्हाखण्ड
Afjalur Hoque Dewan on केशवदास

कैलेण्डर

अप्रैल 2014
सो मँ बु गु शु
« अग    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

वेब पत्र का उद्देश्य-

मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ, बिहार, झारखण्ड तथा उत्तरांचल की पी.एस.सी परीक्षा तथा संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा के हिन्दी सहित्य के परीक्षार्थियो के लिये सहायक सामग्री उपलब्ध कराना।

यह वेब पत्र सिविल सेवा परीक्षा मे हिन्दी साहित्य विषय लेने वाले परीक्षार्थियो की सहायता का एक प्रयास है। इस वेब पत्र का उद्देश्य किसी भी प्रकार का व्यवसायिक लाभ कमाना नही है। इसमे विभिन्न लेखो का संकलन किया गया है। आप हिन्दी साहित्य से संबंधित उपयोगी सामगी या आलेख यूनिकोड लिपि या कॄतिदेव लिपि में भेज सकते है। हमारा पता है-

mitwa1980@gmail.com

- संपादक

भारत के सर्वश्रेष्ट ब्लॊग

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 63 other followers

%d bloggers like this: